BiharLife StyleState

तकनीकी की समीक्षा बैठक में जिला योजना पदाधिकारी को लगी फटकार – नवादा |

रवीन्द्र नाथ भैया |

उदिता सिंह जिलाधिकारी ने समाहरणालय सभागार में तकनीकी अधिकारियों के साथ विस्तृत समीक्षात्मक बैठक की। जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम सभी कार्यपालक अभियंता से परिचय प्राप्त करते हुए उनके द्वारा किए जा रहे विभिन्न प्रकार के कार्यों के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया। कार्यपालक अभियंता आरसीडी को निर्देश दिया गया कि जो भी सड़क बनाने का कार्य अपूर्ण है उसको एक माह के अंदर पूर्ण करना सुनिश्चित करें ।जिले का कोई भी आरसीडी का रोड ठीक नहीं है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि जिले में किसी भी रोड पर बिना अनुमति के स्पीड ब्रेकर नहीं लगेगा, विशेषकर मंदिरों के पास स्थित स्पीड ब्रेकर को यथाशीघ्र हटाने का निर्देश दिया। कार्यपालक अभियंता भवन ने बताया कि आईटीआई रजौली मार्च 2022 बनकर तैयार है । आईटीआई निर्माण के लिए श्रम विभाग के द्वारा आवंटन प्राप्त नहीं हुआ है। सहकारिता भवन नवादा में निर्माण कार्य शुरू हो गया है जो अक्टूबर 22 तक पूर्ण हो जाएगा। प्रखंड कार्यालय अंचल कार्यालय के भवनों की विस्तृत समीक्षा की गई। कार्यपालक अभियंता भवन ने बताया कि इंजीनियरिंग कॉलेज नवादा में फर्नीचर का कार्य जुलाई से अगस्त तक पूर्ण हो जाएगा। जेल के पास ड्राइविंग टेस्ट का भवन बनकर तैयार है ।
जिलाधिकारी ने पांच आंगनबाड़ी केंद्रों की जांच टीम गठित करने का निर्देश दिया था। आंगनवाड़ी केंद्रों की जांच का कार्य पूर्ण नहीं होने पर जिला योजना अधिकारी को फटकार लगी।
अधिकारी ने सभी कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि कनीय अभियंता ,सहायक अभियंता, बेहतर समन्वय करते। उन्होंने सभी कार्यपालक अभियंता को स्पष्ट निर्देश दिया कि कोई भी मुख्यालय बिना अनुमति नहीं छोड़ेंगे, बैठक में सभी स्वयं कार्यपालक अभियंता उपस्थित रहेंगे।
मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना की विस्तृत समीक्षा की गई ।जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि कार्यों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए सभी कार्यपालक अभियंता को अपने कार्यकलापों में अपेक्षित सुधार लाने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्देश दिया। कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को निर्देश दिया गया कि 66 अपूर्ण योजनाओं को 1 माह के अंदर पूर्ण करना सुनिश्चित करें। मेसकौर प्रखंड के लिए पानी प्राप्त करने के लिए विस्तृत समीक्षा की ।उन्होंने कार्यपालक अभियंता को फुलवरिया जलाशय से पानी लाने के लिए डीपीआर तैयार करने का निर्देश दिया ।
लघु सिंचाई योजना के तहत जिले में सिंचाई के लिए 193 ट्यूबेल है जिसमें से मात्र 78 चालू है इस पर जिलाधिकारी ने आश्चर्य व्यक्त किया। किसानों को सिंचाई के लिए आपूर्ति करना सुनिश्चित करें। कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई ने बताया कि डेढ़ करोड़ प्राप्त आवंटन को वापस कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कार्यपालक अभियंता के द्वारा डेढ़ करोड़ की राशि वापस कर घोर लापरवाही बरती गई है ।
कार्यपालक अभियंता पीएचइडी ने बताया कि जिले में 1008 वार्ड पीएचईडी के माध्यम से जल सुलभ कराया जा रहा है । 48 वार्ड में कार्य बाकी है जिसको 1 माह के अंदर पूर्ण करने का निर्देश दिया गया । जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि 10 दिनों के अंदर सभी 1008 वार्ड का सर्वे करना सुनिश्चित करें। कहां-कहां नल जल नहीं पहुंच रहा है । कार्यपालक अभियंता को सभी निर्धारित योजना को ससमय गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के लिए महत्वपूर्ण निर्देश दिया ।
उन्होंने कहा कि इस में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।उन्होंने कहा कि गलती स्वीकार करते हुए उसको सुधार लाएं अन्यथा कार्रवाई की जाएगी। कार्यपालक अभियंता विद्युत को निर्देश दिया गया कि बिजली काट कर जल संकट उत्पन्न नहीं करें, अन्यथा कार्रवाई सुनिश्चित है।
जिले का 44 डिग्री तापमान रहा है जहां पानी की सख्त आवश्यकता है ।बिजली काटने से पानी की समस्या बढ़ सकती है ।पब्लिक सेवा में किसी प्रकार की त्रुटि नहीं होनी चाहिए ।सभी अधिकारी आम जनता के लिए कार्य करते हैं और उनका कर्तव्य भी है कि उनकी समस्याओं को समाधान करे ।
किसी भी स्थिति में बिजली संकट पैदा नहीं करें।
डुडा के कार्यपालक अभियंता बैठक में बिना सूचना के अनुपस्थित पाए गए जिन से स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया ।
नगर परिषद नवादा की सभी सड़कों को अविलंब मरम्मत कर यातायात को सुचारू व्यवस्था बनाने के लिए महत्वपूर्ण निर्देश दिया गया । नगर परिषद वारसलीगंज और हिसुआ की विभिन्न सड़कों के संबंध में कार्यपालक अधिकारी के साथ समीक्षा की गई ।
डीडीसी को निर्देश दिया कि हिसुआ के सभी सड़कों की जांच करें ।
सहायक निदेशक भूमि संरक्षण अधिकारी ने बताया कि जिले में सिंचाई व्यवस्था और जल स्तर को बढ़ाने के लिए अट्ठारह चयनित स्थलों पर चेक डैम का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है ।
जिला योजना अधिकारी ने बताया कि जिले में कुल 168 कब्रिस्तान की घेराबंदी की गई है ।शेष कार्य को 1 माह के अंदर पूर्ण करने का निर्देश दिया ।सभी कब्रिस्तान की घेराबंदी को उप विकास आयुक्त को जांच करने का निर्देश दिया। मंदिर की घेराबंदी के संबंध में विस्तृत समीक्षा की गई ।
मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना की भी समीक्षा हुई। सांसद योजना के संबंध में बताया गया कि पूर्व सांसद के द्वारा 383 योजना ली गई थी जिसमें से 377 पुरी हो गई है ।
जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि पुरानी योजनाओं को यथाशीघ्र पूरा करना सुनिश्चित करें।
माननीय विधायक योजना की समीक्षा की गई। वित्तीय वर्ष 16-17 में 283, वित्तीय वर्ष 17-18 में 260,वित्तीय वर्ष 18_19 में 1435 योजना में 1363 पूर्ण और वित्तीय वर्ष 19 _20 में 806 योजना में से 757 योजना पूर्ण कर ली गई है ।
जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि अपूर्ण योजना को 1 माह के अंदर पूर्ण करना सुनिश्चित करें। बैठक में उप विकास आयुक्त ,विकास प्रभारी पदाधिकारी जिला सूचना जनसंपर्क अधिकारी के साथ-साथ कार्यपालक अभियंता और सहायक अभियंता आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button