BiharLife StylePoliticalState

सीतारामपुर गांव में पेयजल समस्या समाधान के लिए विधायक को दिया ज्ञापन – नवादा |

रवीन्द्र नाथ भैया |

जिले के नारदीगंज प्रखंड के ओड़ो पंचायत की सामाजिक कार्यकर्ता सह पूर्व मुखिया अरविन्द मिश्र ने बुधवार को नवादा विधायक विभा देवी व नवनिर्वाचित विधान पार्षद अशोक यादव को ज्ञापन देकर ओडेक्स मशीन से बोरिंग कराकर पेयजल की समस्या को समाधान करने का अनुरोध किया हैउन्होंने कहा है कि समस्या का समाधान नहीं होने पर आगामी 5 मई 22 को विधायक आवास पर आमरण अनशन करने की बात कही है। मामले को गंभीरता से लेते हुए विधायक व विधान पार्षद ने सीतारामपुर गांव में पेयजल की ज्वलंत समस्या का समाधान करने के लिए सामाजिक कार्यकर्ता सह पूर्व मुखिया श्री मिश्रा को आश्वासन दिया है। सामाजिक कार्यकर्ता सह पूर्व मुखिया श्री मिश्रा ने बहुत ही विनम्रता से अनुरोध के साथ ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि नारदीगंज प्रखंड के हंडिया पंचायत की अनुसूचित गांव सीतारामपुर में पानी की घोर समस्या है, इस गांव में 1500 से अधिक आबादी मांझी परिवार की है। यह अनुसूचित गांव बनगंगा से जेठीयन जानेवाली सड़क मार्ग में राजगीर की पहाड़ी के किनारे बसा है।
कहतें हैं कि कई दफा डीएम महोदय, पदाधिकारियों ,समाजसेवियों पत्रकार बंधुओं,को भी उस गांव में पेयजल समस्या के समाधान के लिए कहा गया ।तब पहाड़ी चापाकल भी लगा,लेकिन वह कारगर साबित नहीं हो रहा है,आज भी सीतारामपुर के ग्रामीण पानी के लिए तरस रहें हैं।ऐसे में उस गांव में ओडेक्स मशीन से बोरिंग होने पर ही ग्रामीणों का पेयजल संकट से निजात मिलेगी।
मौके पर वरिष्ठ नेता अनिल प्रसाद सिंह,उज्ज्वल पांडेय,संजय मारुति,बाल्मीकि यादव,शम्भू विश्वकर्मा, रविन्द्र यादव समेत अन्य मौजूद रहें।
उल्लेखनीय हैं कि 24 अप्रैल 22 को सामाजिक कार्यकर्ता सह पूर्व मुखिया श्री मिश्रा ने सीतारामपुर गांव में पेयजल समस्या के हल होने पर ही जूता चप्पल पहननें का संकल्प की खबर समाचार पत्रों में प्रमुखता से प्रकाशित हुआ था,तब पीएचडी कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार, बीडीओ अमरेश कुमार मिश्र के निर्देश पर जेई प्रेम कुमार ने 25 अप्रैल को सीतारामपुर गांव में पेयजल समाधान के लिए स्थलीय निरीक्षण किया था। इस संबंध में बुधवार को पीएचडी कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार ने कहा इस गांव में खराब पड़े चापाकल की मरम्मती के लिए मरम्मती दल को भेजा गया है। साथ ही गुरुवार से पानी की ट्रंकलोरी गांव में भेजी जाएगी, और तत्काल दो तीन नये पहाड़ी चापाकल लगाया जायेगा। साथ ही साथ 28 अप्रैल को स्वयं गांव पहुँचकर स्थलीय जांच के बाद ओडेक्स मशीन से बोरिंग कराने की बात कही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button